फिक्की की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक में बोले भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह........ पीएम मोदी के नेतृत्व में आज दुनिया भर में डेवलप हुई है ब्रांड इंडिया की एक सोच

शि.वा.ब्यूरो, नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने फिक्की की राष्ट्रीय कार्यकारिणी को संबोधित करते हुए कहा कि फिक्की ने अपनी स्थापना से लेकर आज तक भारत की अर्थव्यवस्था एवं औद्योगिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है। उन्होंने कहा कि फिक्की ने नीति निर्धारकों और जिनके लिए नीतियाँ बनती हैं, उनके बीच एक सफल माध्यम बनने का सार्थक प्रयास किया है। 
श्री शाह ने कहा कि 2014 से पहले 10 सालों तक देश में कांग्रेस-नीत यूपीए सरकार थी और इस सरकार के दौरान देश में सर्वत्र निराशा का माहौल था। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार के दौरान अर्थव्यवस्था लगातार नीचे जा रही थी, विकास दर 4 फीसद के आस-पास आ गया था, वित्तीय घाटा 5 फीसद से ज्यादा हो गया था, करेंट एकाउंट डेफिसिट भी 5 फीसद के लगभग हो गई थी, महंगाई दर अपने चरम पर थी, साथ थी, घोटालों और भ्रश्टाचार ने देष को झकझोर कर रख दिया था। उन्होंने कहा कि उस वक्त सरकार की कोई विष्वसनीयता नहीं रह गई थी, हर मंत्री अपने आप को प्रधानमंत्री समझता था और प्रधानमंत्री को कोई प्रधानमंत्री मानने को तैयार ही नहीं था। उन्होंने कहा कि मीडिया वर्गों ने भी मान लिया था कि सरकार पॉलिसी पैरालिसिस से ग्रस्त है। उन्होंने कहा कि जहां एनडीए की अटल बिहारी वाजपेयी सरकार के समय पूरी दुनिया यह मानने लगी थी कि 21वीं सदी भारत की सदी है, वहीं यूपीए सरकार के समय देश का भविश्य अंधकारमय दिखाई देने लगा था। उन्होंने कहा कि ऐसी परिस्थिति में देश की जनता ने 30 साल बाद देश में एक पूर्ण बहुमत की सरकार का गठन किया और देश के विकास की बागडोर नरेन्द्र भाई मोदी के हाथों में सौंपने का फैसला किया। उन्होंने कहा कि आज फिर से दुनिया यह मानने लगी है कि 21वीं सदी भारत की सदी है। 
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि केंद्र में भारतीय जनता पार्टी की सरकार के गठन के बाद प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने शार्ट टर्म गेन की जगह लॉन्ग टर्म गेन के लिए नीतियाँ बनाने और उसके इम्प्लीमेंटेशन को प्राथमिकता दी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नीतियां देश को 30 साल तक एक स्टेबल पॉलिसी देने की दिशा में आगे बढ़ रही है और सभी फैसले इसी लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में लिए जा रहे हैं। 
श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मोदी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी ने देश के 30 करोड़ जन-धन अकाउंट ओपन कर समाज के गरीब-से-गरीब लोगों को देश के अर्थतंत्र की मुख्यधारा के साथ जोड़ने का सफल प्रयास किया है, मुद्रा बैंक के माध्यम से स्वरोजगार को रोजगार का नया आयाम दिया गया है। 
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि एफडीआई को सरल बनाने की दिशा में भी मोदी सरकार ने कई कदम उठाये हैं। उन्होंने कहा कि आपसी सहयोग से नीतिगत फैसलों को क्रियान्वयित करने का सबसे बड़ा उदाहरण जीएसटी का लागू होना है। 
उन्होंने कहा कि हम देश की राजनीतिक एवं चुनावी व्यवस्था में से काले धन को बाहर निकालना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि आजादी के 70 साल बाद भी किसी पॉलिटिकल पार्टी ने इस दिशा में इतना बड़ा प्रयास नहीं किया जितना गंभीर प्रयास भारतीय जनता पार्टी की मोदी सरकार ने किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हम एक ऐसा देश बनाने का प्रयास किया है जिसमें अगली पीढ़ी को प्रगतिषील एवं भ्रश्टाचार-मुक्त भारत के अंदर विकास करने का मौका मिले और  प्रतिस्पर्द्धा कर सके। 
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि हमने फिस्कल डेफिसिट को 3 फीसद के पास लाकर वित्तीय घाटे को करने में सफलता प्राप्त की है, हमने राज्यों को एम्पावर करके उन्हें देश के विकास में जोड़ा है। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतष्त्व में सबसे बड़ी उपलब्धि देश के सोचने के स्केल में बदलाव लाना है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतष्त्व में भारतीय जनता पार्टी की सरकार के कारण आज दुनिया भर में एक ब्रांड इंडिया की सोच डेवलप हुई है। उन्होंने कहा कि ब्रांड इंडिया के निर्माण का काम सरकार का है लेकिन इसे एनकैश करने का कम फिक्की और उद्योग जगत से जुड़े संगठनों का है।
श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत की अर्थव्यवस्था का भविश्य बहुत सुंदर है, हमें विष्व में सबसे तेज गति से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बनने से कोई नहीं रोक सकता। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार रिफॉर्म्स से भी कई कदम आगे बढ़ कर ट्रांसफॉर्मेशन में यकीन रखती है, हम सोच के साथ - साथ कार्यप्रणाली में भी आमूल-चूल परिवर्तन करना चाहते हैं और सभी फैसले सोच समझकर देश हित में लिए गए हैं।